BREAKING NEWS
Search

Category: आँचलिक साहित्य

लबनी के छाँक लागल होश उड़ि जाए, बईसखवा के ताड़ी रामा बड़ा जुल्म ढाए

लेखक- चंद्रहाश कुमार शर्मा युवा पत्रकार अऊरी लेखक बईसाख़ अऊरी...

जग में माई बिना केहुए, सहाई ना होई

। केहु केतनो दुलारी, बाकीर माई ना होई।। सत्येन्द्र कुमार सिंह आज...

बेटी चिरईया के समान हो बाबा….

लगन एह बेरा अपना असलकिया चढ़न्ति पर बाटे। चारु ओर  लगनी चिरई...

गरीबी ! ना हँसे देले ना रोवे ना जीये देले ना मूए ……..

गरीबी साँप- छुछुंदर के गति क देले पागल मति क देले खोर-खोर के खाले आ...

बिहार के शेखुपरा में ऐसी शादी जहा दुल्हन खुद लेकर जाती है अपना बरात

शेखपुरा । दहेज प्रथा और अनावश्यक शादी खर्च की दिशा में कढुआ शादी...

ओक्का बोक्का तीन तलोक्का, फूट गयल बुढ़ऊ के हुक्का। फगुआ कजरी कहाँ  हेरायल, अब त गांव क गांव चुड़ूक्का

कय चिंतन ” साकेतपुरी अब । मन मा इहै विचार करैं ॥ आवै वाली पीढी...

चम्पा और चमेली गायब , फुलवन से ऊ खुश्बू गायब, छोट छोट चीनी के आगे . बडी बडी गुड भेली गायब ……….

॥ सरिया मह से धेनू गायब । माठा मह से नैनू गायब ॥ बडी बडी राइसमिल...