BREAKING NEWS
Search

Category: आँचलिक साहित्य

गंगा मईया के आरती” (एगो किसान के नजर से )

गंगा जी के अरतियां ऐ मईया यमुना जी के अरतियां ,घिउआ जरेला रे...

” झगराइन”” एगो भोजपुरी कहानी

“इ सब नतीया केरा,जेतना बाड़ सन, सब हमार खेतवा चहल देहल सन, रे! तनी...

हिंदी ,अंग्रेजी,भोजपुरी में भाषा सबसे बोले के रहे -चुटकुला

एगो आदमी चिड़ियाघर में गईल जहाँ लिखल रहे की तीन भाषा में बोले...

भोजपुर में पिता के मौत के बाद जब बेटी लगवली शव के कंधा , श्मशान में जाके देहली मुखाग्नि

भोजपुर ।आज तक ले रउरा लोग इहे ज्यादा देखले होखेब जा कि परिवार में...

लबनी के छाँक लागल होश उड़ि जाए, बईसखवा के ताड़ी रामा बड़ा जुल्म ढाए

लेखक- चंद्रहाश कुमार शर्मा युवा पत्रकार अऊरी लेखक बईसाख़ अऊरी...

जग में माई बिना केहुए, सहाई ना होई

। केहु केतनो दुलारी, बाकीर माई ना होई।। सत्येन्द्र कुमार सिंह आज...

बेटी चिरईया के समान हो बाबा….

लगन एह बेरा अपना असलकिया चढ़न्ति पर बाटे। चारु ओर  लगनी चिरई...

गरीबी ! ना हँसे देले ना रोवे ना जीये देले ना मूए ……..

गरीबी साँप- छुछुंदर के गति क देले पागल मति क देले खोर-खोर के खाले आ...

बिहार के शेखुपरा में ऐसी शादी जहा दुल्हन खुद लेकर जाती है अपना बरात

शेखपुरा । दहेज प्रथा और अनावश्यक शादी खर्च की दिशा में कढुआ शादी...

ओक्का बोक्का तीन तलोक्का, फूट गयल बुढ़ऊ के हुक्का। फगुआ कजरी कहाँ  हेरायल, अब त गांव क गांव चुड़ूक्का

कय चिंतन ” साकेतपुरी अब । मन मा इहै विचार करैं ॥ आवै वाली पीढी...