BREAKING NEWS
Search

बक्सर के डुमराव में बिस्मिल्लाह खां के नाम पर खुली पहिलका सांस्कृतिक विश्वविद्यालय

पटना. बिहार सरकार के द्वारा  विश्व विख्यात शहनाई वादक बिस्मिल्लाह खां  के नाम पर बक्सर के डुमरांव में सांस्कृतिक विश्वाविद्यालय खोले के निर्णय लिहल गईल बा . ऐह  प्रस्तावित यूनिवर्सिटी के  स्थापना कला औरी  संस्कृति विभाग के  पहल पर होई . एकरा खातिर   तकरीबन 10 एकड़ जमीन के  अधिग्रहण करे के  प्रस्ताव दिहल गईल बा .दरअसल सरकार मशहूर कलाकार लोग  के बारे मे भावी पीढ़ी के  अवगत करावे के  चाहत बा . एही  मकसद से ऐ  विश्विद्यालय के  स्थापना कईल जा रहल बा . एहिमे  डॉक्यूमेंट्री फिल्म से लेके  उनकर  स्मृति के  संजोवे खातिर  बहुत सारी गतिविधिय के  मूर्त रूप देबे के  योजना  बा . बिहार के कला औरी  संस्कृति मंत्री प्रमोद कुमार  पटना में बतवले  कि प्रथम चरण में सांस्कृतिक विश्विद्यालय के  स्थापना कईल जाई  . मंत्री  बतवले  कि बिहार के दिग्गज कलाकार लोग जवना  तरीका  से विश्वभर में नाम रोशन कईले बा एहिसे हमनी सब लोग के जिम्मेवारी बनत बा की ऐ सब महान विभूति लोग के बारे में कुछ कईल जाव जवना से आवे   वाला पीढ़ी के लाभ मिलो .

शहनाई के जादूगर रहले बिस्मिल्लाह खान

शहनाई के  गूंज केवल अपना  देश में ही ना  बल्कि पूरा विश्व में पहुंचावे के  श्रेय शहनाई के जादूगर भारत रत्न उस्ताद बिस्मिल्लाह खान के  जाता . शहनाई के जादूगर मानल जाए वाला  उस्ताद बिस्मिल्लाह खान के संगीत के  उपलब्धि के  देखते हुए भारत सरकार  2001 में उनकरा के  भारत रत्न से सम्मानित कईले रहे . 1980 में पद्म विभूषण, 1968 में पद्म भूषण औरी  1961 में पद्मश्री सम्मान से भी उस्ताद के  नवाजल गईल रहे . रउरा लोग के बता दिहल जाव  कि बिस्मिल्लाह खां  के जन्म 21 मार्च 1916 के बिहार के डुमरांव में एगो बिहारी मुस्लिम परिवार में भईल रहे . बिस्मिल्लाह खां के  बचपन के  नाम क़मरुद्दीन रहे . उ अपना  माता-पिता के  दूसरका  संतान रहले . चूंकि उनकर  बड़  भाई के  नाम शमशुद्दीन रहे  एहिसे उनकर  दादा रसूल बख्श उनकरा के  कहले  ‘बिस्मिल्लाह’ जवना के  मतलब होला  ‘अच्छी शुरुआत’.




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *