BREAKING NEWS
Search

RJD में ‘महाअंतर्कलह’, रघुवंश ने लिखी लालू यादव चिट्ठी, दो करीबी दोस्‍तों में घमासान

पटना. RJD के वरिष्‍ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद (Raghuvansh Prasad) और जगदानन्द सिंह (Jagdanand Singh) अब आमने-सामने हैं. लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) के दोनों करीबी दोस्तों में अब ठन सी गई है. पार्टी में अलग-थलग पड़ रहे रघुवंश प्रसाद ने लालू यादव को चिट्ठी लिखकर आखिरकार मोर्चा खोल दिया है. उन्‍होंने जगदानन्द के बहाने तेजस्वी पर भी हमला बोला है. बता दें कि बिहार में इसी साल विधानसभा चुनाव भी होने वाले हैं.

रघुवंश ने खोली पार्टी की पोल
बिहार में तेजस्वी यादव के नेतृत्व और सीटों को लेकर महागठबंधन में घमासान मचा हुआ है. ऐसे में रघुवंश प्रसाद सिंह की इस चिट्ठी ने RJD की मुश्किलें बढ़ा दी हैं. लालू के बेहद करीबी और पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रघुवंश प्रसाद सिंह ने संगठनात्मक चुनाव को लेकर जिस तरह से पार्टी की पोल खोली है, उससे पार्टी में जारी अंतर्कलह विधानसभा चुनाव से पहले सतह पर आ गया है. सही मायनों में इस चिट्ठी के जरिये रघुवंश प्रसाद ने जगदानन्द सिंह और तेजस्वी यादव को आइना दिखा दिया है. उन्होंने चिठ्ठी के जरिये संगठन की कमजोरियों को उजागर किया है. उन्‍होंने लिखा कि एक महीना बीत जाने के बाद भी अब तक पार्टी की कमेटियां नहीं बनी हैं. यह पार्टी के लिए ठीक नहीं है.

चिट्ठी में क्या लिखा?
जानकारी के मुताबिक, रघुवंश सिंह ने पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव को 9 जनवरी को पत्र लिखकर चुनावी साल को आधार बनाते हुए बूथ स्तर तक संगठन का स्वरूप खड़ा कर आंदोलन करने की सलाह दी है. रघुवंश सिंह ने चिट्ठी में लिखा, ‘क्या अब तक कमेटी नहीं बननी चाहिए थी? क्या संगठन बिना संघर्ष और संघर्ष बिना संगठन के मजबूत किया जा सकता है? सबसे बड़ा जनाधार और सबसे बड़ी फौज वाली पार्टी का संगठन बहुत जल्द बनाकर क्या हमें चुनाव की तैयारी में नहीं लग जाना चाहिए?’

रघुवंश ने एक तीर से किए दो निशाने

रघुवंश प्रसाद सिंह और जगदानन्द सिंह में पहले से भी तनातनी रही है, लेकिन जब से जगदानन्द सिंह को पार्टी का प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया है तब से दोनों के बीच तल्खी कुछ ज्यादा ही बढ़ गई है. जगदानन्द सिंह को पार्टी की कमान मिलने के बाद से रघुवंश प्रसाद पार्टी में अलग-थलग पड़ गए हैं. इसके इतर नीतीश कुमार को महागठबन्धन में शामिल किए जाने के रघुवंश सिंह की कई कोशिशों को भी तेजस्वी ने बार-बार झटके दिए हैं. ऐसे में काफी दिनों से रघुवंश प्रसाद पार्टी से नाराज चल रहे थे. ये एक बड़ा कारण है तो रघुवंश प्रसाद ने लालू यादव को चिट्ठी लिखकर ना सिर्फ अपनी शिकायत दर्ज कराई है, बल्कि इशारों में जगदानन्द सिंह और तेजस्वी दोनों के खिलाफ मोर्चा भी खोल दिया है.

लालू से की अपील
रघुवंश सिंह का कहना है कि आज विपक्षी पार्टियां हम पर लगातार हमले कर रही है, लेकिन हम उनका जवाब नहीं देते हैं. पार्टी की ओर से कोई नियमित ब्रीफिंग भी नहीं की जाती है. साथ ही रघुवंश प्रसाद ने यह भी कहा है कि इन दिनों पार्टी में किसी भी मुद्दे पर कोई विचार-विमर्श तक नहीं होता है. रघुवंश ने लालू प्रसाद से इस पर हस्तक्षेप करने की अपील भी की है.




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *