BREAKING NEWS
Search

बिहार में कोरोना का संक्रमण चरम पर , 29 दिन में बढ़ गए 53 गुना मरीज ,हाई लेवल बैठक शुरू सीएम नितीश ले सकते है महत्वपूर्ण निर्णय

पटना. बिहार में कोरोना के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं. रोजाना 12 हजार से ज्यादा नए मामले सामने आ रहे हैं. कोरोना संक्रमितों की लगातार मौत भी हो रही है. इस बीच कोरोना से निपटने के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शुक्रवार को मंत्रिमंडल की बैठक बुलाई है. कयास लगाए जा रहे हैं कि सरकार इस बैठक में अहम फैसले ले सकती है. वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से दोपहर 1 बजे होने वाली इस बैठक में सरकार कोई सख्त और बड़ा निर्णय ले सकती है. दरअसल, पूरे बिहार में धारा 144 लागू किए जाने और नाइट कर्फ्यू सहित तमाम सख्ती के बाद भी  बिहार में कोरोना का संक्रमण का दायरा बढ़ता ही जा रहा है. गुरुवार शाम तक राज्य में एक्टिव मरीजों की संख्या एक लाख के पार हो गयी. राज्य में एक्टिव मरीजों की संख्या बढ़ कर एक लाख 821 तक पहुंच गई है. वहीं, रिकवरी दर भी थोड़ी बढ़ कर 77.27% हो गयी है. संक्रमण दर भी बढ़ कर 13.36% हो गया है.

29 दिन में बढ़ गए 53 गुना मरीज

गौरतलब है कि कोरोना की दूसरी लहर में महज 29 दिनों में ही 53 गुना मरीज बढ़ गए हैं. विगत 1 अप्रैल को राज्य में एक्टिव मरीजों की संख्या 1907 थी, जो 15 अप्रैल को 25 हजार और 20 अप्रैल को 50 हजार को पार कर गई. अब यह संख्या एक लाख 821 हाे गई है. इस तरह 29 दिनों में एक्टिव मरीजों की संख्या में लगभग 53 गुना बढ़ोतरी हुई है.
पूरे बिहार में लागू है धारा 144

वहीं, बिहार में बुधवार को आपदा प्रबंधन समूह की बैठक में लोगों के मूवमेंट को कम करने के लिए सभी दुकानें और कारोबारी प्रतिष्ठान शाम 4 बजे ही बंद करने का फैसला किया गया. पहले यह छूट शाम 6 बजे तक थी. नाइट कर्फ्यू अब रात 9 बजे की बजाय शाम 6 बजे से सुबह 6 बजे तक नाइट कर्फ्यू लागू है. यह आदेश अगले 15 मई तक के लिए है, पर कोरोना की तेज रफ्तार देख शुक्रवार को मंत्रिमंडल की होने वाली अहम बैठक में सख्त निर्णय लिए जाने की संभावना है.




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *