BREAKING NEWS
Search

10 लाख फिरौती की राशि देने के बाद भी अपराधियों ने नही छोड़ा लोजपा नेता को , उग्र परिजनों ने किया सड़क जाम

पुर्णिया :- लोजपा  नेता अनिल उरांव के अपहरण के बाद अपराधियों ने 10 लाख की फिरौती की मांग की थी। जिसके बाद परिजनों ने फिरौती की रकम भी दी लेकिन अपहर्ताओं ने अनिल उरांव को नहीं छोड़ा। जिससे गुस्साएं लोग सड़क पर उतर गये और आगजनी कर हंगामा करने लगे। इस दौरान आक्रोशित लोगों ने मुख्य सड़क को जाम कर दिया। जिससे यातायात पूरी तरह से बाधित हो गया। लोजपा नेता के अपहरण के विरोध में आदिवासी समाज के लोगों ने शहर के गिरजा चौक, थाना चौक, डीआईजी चौक और जनता चौक को जाम कर जमकर हंगामा मचाया। इस दौरान लोगों ने पुलिस के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और पुलिस की कार्यशैली पर सवाल उठाया। हंगामे की सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने समझा बुझाकर लोगों को शांत कराया और अपहृत अनिल उरांव को बरामद कर लिए जाने का आश्वासन दिया। गौरतलब है कि शुक्रवार को अपहर्ताओं ने लोजपा नेता अनिल उरांव का अपहरण कर लिया था। जिसके बाद परिजनों से फिरौती के तौर पर 10 लाख रुपए मांगे थे। परिजनों ने अपहृर्ताओं द्वारा बताए गए पते पर 10 लाख रुपये बनभाग बांध के पास पहुंचा दिया गया। जहां बिना नंबर प्लेट की लाल रंग के पल्सर बाइक से दो नकाबपोश युवक आये और कैश से भरा बैग लेकर भाग खड़े हुए। फिलहाल इस मामले में पुलिस के हाथ खाली है। लोजपा नेता अनिल उरांव का अब तक पता नहीं चल पाया है। जबकि अपहर्ताओं द्वारा परिजनों को कई बार फोन किया गया बावजूद इसके पुलिस अबतक अपहर्ताओं का पता लगाने में नाकामयाब रही।अपहृत अनिल उरांव लोजपा आदिवासी प्रकोष्ठ के बिहार प्रदेश अध्यक्ष हैं। वह 2015 और 2020 में कटिहार जिला के मनिहारी से विधानसभा चुनाव लड़ चुके हैं । लेकिन दोनों बार उनकी हार हुई। पूर्व में पूर्णिया के  बेला रिकाबगंज पंचायत के मुखिया रह चुके हैं .

लोजपा नेता का फोटो



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *