BREAKING NEWS
Search

योगीजी के रामराज्य के अस्पतालों की हालत :डॉक्टर न इंतजाम, सांसत में मरीजों की जान

बलिया :योगीजी के रामराज्य के अस्पतालों का है ये हाल . कोरोना संक्रमण के दौर में सरकारी दावों की पोल स्वास्थ्य सुविधाओं को लेकर खुल रही हैं। सरकारी अस्पतालों की स्थिति बदतर है। इसी तरह सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सोनबरसा भी नाम का अस्पताल रह गया है। चिकित्सकों के अभाव में मरीज उपचार के लिए दूर-दराज जाने के लिए मजबूर हैं। जीवन रक्षक दवाइयों का अभाव व महिला चिकित्साधिकारी के नहीं रहने के कारण इसकी उपयोगिता कम हो गई है।

एक्स-रे मशीन है, प्लेट नहीं

मशीन है कितु प्लेट के अभाव में एक्स-रे नहीं होता। लैब टेक्नीशियन होने के बावजूद इक्का-दुक्का जांच हो पाती है क्योंकि संसाधन ही नहीं है। जेनरेटर है, डीजल नहीं .जेनरेटर भी है कितु बजट के अभाव में डीजल की व्यवस्था नहीं होती है। इसके कारण बिजली नहीं रहने पर अस्पताल परिसर में अंधेरा रहता है। तीस बेड वाले इस अस्पताल में अधिकांश पंखे खराब पड़े हुए हैं।सीमित संसाधनों के बावजूद बेहतर व्यवस्था देने का प्रयास किया जा रहा है। अस्पताल को अत्याधुनिक संसाधनों से लैस कर दिया जाए तो निश्चित रूप से लोगों को इलाज के लिए बाहर नहीं जाना पड़ेगा। इस दिशा में प्रयास जारी हैं।

-डा. आशीष कुमार श्रीवास्तव, अधीक्षक, सीएचसी सोनबरसा।

स्वीकृत पद व तैनाती

चिकित्सक – स्वीकृत पद सात, तैनाती दो

फार्मासिस्ट – स्वीकृत पद तीन, तैनाती तीन

वार्ड ब्वाय – स्वीकृत पद दो, तैनाती एक

लैब टेक्नीशियन – स्वीकृत पद एक, तैनाती एक

स्टाप नर्स – पद तीन, तैनाती तीन

एक्सरे टेक्नीशियन – पद एक, तैनाती एक

डार्क रूम असिस्टेंट – पद एक, तैनाती एक

क्लीनर – पद एक, तैनाती एक

वाशर मैन – पद एक, तैनाती एक

चपरासी – पद एक, तैनाती एक

स्वीपर – पद एक, तैनाती एक




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *